नाथू राम गोंडसे को देशभक्त बताये जाने के विरोध में राजधानी लखनऊ में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने किया गांधी प्रतिमा पर धरना



लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी की सांसद व रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति की सदस्य प्रज्ञा ठाकुर द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के हत्यारे नाथू राम गोंडसे को देशभक्त बताये जाने के विरोध में राजधानी लखनऊ में आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी के नेतृत्व में सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजनों द्वारा जीपीओ पार्क स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की प्रतिमा के पास धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर गांधी जी के प्रिय भजन रघुपति राघव राजा राम, वैष्णो जन ते तेते कहिए के साथ ही प्रज्ञा ठाकुर शर्म करो, प्रज्ञा ठाकुर को बर्खास्त करो, जो गोंडसे का यार है देश का गद्दार है, जैसे गगनभेदी नारे लगाकर विरोध किया गया।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश की वर्तमान सत्तासीन भाजपा की सांसद ने लोकतंत्र के मंदिर, संसद में जो कल बयान दिया उसने संसद की गरिमा को तार-तार करने का काम किया है। साथ ही पूरे देश में लोगों को गहरा आघात पहुंचाया है। कांग्रेस पार्टी गांधी जी के सिद्धान्तों पर चलते हुए उनके विचारों को मानने वाली पार्टी है। उन्होने कहा कि यह देश गांधी के विचारों से चलता है। गांधी जी ने अहिंसा का सहारा लेते हुए देश की एकता-अखंडता, संप्रभुता को कायम रखने ने के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। जिन लोगों ने उनकी हत्या की, ऐसे लोगों का लोकतंत्र के मंदिर और देश की सबसे बड़ी पंचायत, संसद में भाजपा की सांसद ने उनके हत्यारे का महिमामंडन करने का कुकृत्य किया है। कांग्रेस पार्टी इसकी घोर भतर््सना और निन्दा करती है। जो लोग इस तरह की घटनाओं में लिप्त थे, इस तरह के मुकदमें में वांछित थे, उन लोगों को टिकट देकर सांसद बनाया और उन्हें प्रोत्साहित करके संघ और भाजपा ने जो कल उदाहरण पेश किया, वह भारत के लोकतंत्र के लिए काले दिन के रूप में जाना जाएगा। एक तरफ भाजपा गांधी जी की 150वीं जयंती पर पंचायतों का आयोजन करती है, पूरे देश-प्रदेश में जगह-जगह पदयात्राएं आयोजित करती है विधानसभाओं और संसद का विशेष सत्र बुलाकर गांधी जी पर चर्चा करती है और दूसरी तरफ उनके सांसद के बयान ने देश के लोगों की आत्मा के ऊपर बड़ा चोट करने का काम किया है। आज पूरे देश में आंदोलन चल रहा है। आंदोलन के माध्यम से भाजपा के लोगों और सरकार को बताना चाहते हैं कि आपका चरित्र पूरे देश के सामने उजागर हो चुका है अब आपको तय करना पड़ेगा कि आप गांधी जी के साथ हैं अथवा गोंडसे की विचारधारा को मानने का काम करेंगे। इसके पहले भी जब प्रज्ञा ठाकुर ने बयान दिया था तो तमाम सांसदों ने और प्रधानमंत्री ने कहा कि हम दिल से माफ नहीं कर सकते। इसके बाद रक्षा मंत्रालय जैसी जगह पर सदस्य बनाया, संसद में बोलने के लिए मौका देना, उत्साहित करना, यह कैसा संदेश देने का काम करता है? प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि लगातार भाजपा के सांसद और मंत्री अब ट्वीट कर रहे हैं और सफाई दे रहे हैं। उन्होने कहा कि अब सफाई और ट्वीट करने से काम नहीं चलेगा। कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि अगर आप गांधी के विचारों के साथ हैं वास्तव में आप गांधी जी के विचारों को मानते हुए 150वीं जयंती मना रहे हैं तो अविलम्ब प्रज्ञा ठाकुर की सदस्यता को खत्म करिये, उनको पार्टी से निकालने का काम करिए और उनके खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराइये। अन्यथा मौन सहमति इस बात को साबित करने का काम करेगी कि आप गोंडसे को मानने वाले लोग हैं, गांधी जी के साथ और उनके विचारों के साथ नहीं हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की यह लड़ाई जारी रहेगी जब तक भारतीय जनता पार्टी, प्रज्ञा ठाकुर की सदस्यता समाप्त नहीं करती।
धरने में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक श्री श्यामकिशोर शुक्ल, पूर्व मंत्री श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व मंत्री श्री आर0के0 चैधरी, श्री विश्वविजय सिंह, पूर्व विधायक श्री सतीश अजमानी, श्री रमेश कुमार शुक्ला, श्री शहनवाज आलम, डा0 प्रमोद कुमार पाण्डे, श्री सुबोध श्रीवास्तव, श्री अनूप गुप्ता, श्री रमेश मिश्रा, श्री वी0एन0 त्रिपाठी, श्रीमती ममता चैधरी पार्षद, श्री रेहान खालिद, श्री पंकज तिवारी, श्री अशोक सिंह, श्री जीशान हैदर, डा0 उमाशंकर पाण्डेय, डा0 अनूप पटेल, श्री प्रदीप सिंह, श्री मुकेश सिंह चैहान, श्री अंशू अवस्थी, श्री सत्यदेव सिंह, डा0 मंजू दीक्षित, श्री अरशी रजा, श्री अमित श्रीवास्तव त्यागी, श्री इरशाद अली, श्री कृष्णकान्त पाण्डेय, श्रीमती सिद्धश्री, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्री वेद प्रकाश त्रिपाठी, श्री दिलप्रीत सिंह, श्री संजय सिंह, श्री के0के0 आनन्द, डा0 धु्रव त्रिपाठी, श्री विजय बहादुर, श्री अयाज खान अच्छू, डा0 शहजाद आलम, श्री शंकर लाल गौतम, श्री अजय श्रीवास्तव अज्ज, श्री मनोज तिवारी, श्री दीपक भट्ट, श्री राजेश सिंह काली, श्री आशुतोष मिश्रा, श्रीमती सुनीता रावत, श्रीमती लक्ष्मी वर्मा, श्रीमती सुशीला सोनकर, श्री दीपेन्द्र मिश्रा, निशात परवेज, श्रीमती प्रतिमा वर्मा, श्रीमती सोनिया लारी, श्री नीरज तिवारी, श्री शैलेन्द्र दीक्षित, श्री हरिशंकर तिवारी, श्री रोशन यादव, श्री जितेन्द्र पाठक, श्री आलोक रैकवार, श्रीमती माया चैबे, श्री सोम विकल, श्रीमती आशा मिश्रा, श्री आर0एस0 तिवारी, श्री अनूप श्रीवास्तव, श्री डी0आर0 सिंह, श्री अख्तर मलिक, श्री शहनवाज खान, श्री शब्बीर हाशमी, श्री विजय कनौजिया, श्री मेंहदी हसन, श्रीमती आरती बापजेयी, श्री गोपालकृष्ण पाण्डेय, श्री गोपाल राय, श्री ज्ञान प्रकाश राय, श्री तीरथराज मिश्र, सुश्री वन्दना सिंह, सुश्री आस्था तिवारी, श्री श्रीराम यादव, श्रीमती विभा त्रिपाठी, श्रीमती सीमा चैधरी, श्री अयूब सिद्दीकी, श्री राजेन्द्र पाण्डेय, श्री राकेश पाण्डेय, श्री माता प्रसाद नेता, श्री कोणार्क दीक्षित'के.डी.' आदि सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजन शामिल रहे।


रिज़वान अली लखनऊ सवांददाता